अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 से जुडी हर तरह की जानकारी

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस आने वाला है और इसीलिए हम आपके लिए इस आर्टिकल को लेकर आये हैं ताकि आप अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से जुडी हर वो जानकारी ले सकें जो आपको जानना बहुत ही जरुरी है। आजके इस आर्टिकल में आपको अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से जुड़े हर तरह से सवालों के जवाब मिलने वाले हैं जैसे योग कब शुरू हुआ और क्यों शुरू हुआ, इसका कोनसे वेद में उल्लेख मिलता है आदि।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

अगर आपको अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के बारे में पूरी जानकारी अच्छे से जननी है तो इस आर्टिकल को ऊपर से लेकर निचे तक पूरा जरूर पढ़ें ताकि आप किसी भी जानकारी को miss न कर पाएं। इस आर्टिकल में हम आपको बहुत सारे सवालों का जवाब देने वाले हैं जिनमें से कुछ सवालों को हमने निचे points में बताया है:

  • किस वेद में योग के बारे में उल्लेख मिलता है?
  • 21 जून को ही क्यों अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है?
  • योग के पिता के रूप में कौन जाना जाता है?
  • भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया गया था?
  • किस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया?
  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 का थीम क्या है?
  • प्रसिद्ध योगी पतंजलि ने योग की कितनी अवस्थाओं का वर्णन किया है ?
  • योग शब्द की उत्पत्ति किस भाषा से हुई है
  • भारत में अंतर्राष्ट्रीय योग का उत्सव किस मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जाता है?

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

United Nations के द्वारा एक आम सभा 11 दिसंबर 2014 को की गयी जिसमें भारत देश ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाये जाने का प्रस्ताव पेश किया जो की सफल भी हुआ और उसे मंजूरी दी गयी। प्रस्ताव के पारित होने पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को 21 जून को मनाने की सभी देशों की सहमति होने पर सबसे पहले 21 जून 2015 को मनाया गया था। 21 जून पुरे वर्ष का सबसे लम्बा दिन होता है और योग करने से मनुष्य की उम्र में वृद्धि होती है।

आपको बता दें की International Yoga Day की पहल माननीय नरेंद्र मोदी जी द्वारा 27 सितम्बर 2014 को अपने एक भाषण द्वारा की गयी थी जिसमें उन्होंने कहा था की:

योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है; विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आयें एक अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।

Said by Mr. Narendra Modi

चलिए अब हम आपको उन प्रश्नों का जवाब देते हैं जो अक्सर लोगों द्वारा पूछे जाते हैं।

किस वेद में योग के बारे में उल्लेख मिलता है?

ऋग्वेद में योग के तत्वों का उल्लेख मिलता है। आपको बता दें की ऋग्वेद में योग के बारे में ऐसा कहा गया है की कोई भी कर्म बिना योग के पूर्ण नहीं होता है। इस बात से हम जान सकते हैं की वेदों में योग को कितना महत्त्व दिया गया है।

21 जून को ही क्यों अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है?

21 जून को ही अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का कारण यह है की 21 जून को ही वर्ष का सबसे लम्बा दिन होता है, साथ ही 21 जून को ही ग्रीष्मकालीन संक्रांति का दिन भी होता है।

योग के पिता के रूप में कौन जाना जाता है?

योग के पिता के रूप में भगवान शिव को माना जाता है। आपको बता दें की योगिक संस्कृति के अनुसार भगवान शिव को आदियोगी कहा गया है, इसी वजह से शिव जी को ही योग के पिता या योग के जनक कहा गया है।

भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया गया था?

भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था।

किस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया?

भारत देश के छत्तीसगढ़ राज्य में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। आपको बता दें की इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को 60 लाख लोगों द्वारा 3 मिनट तक वीरभद्रास मुद्रा में खड़े होकर बनाया गया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 का थीम क्या है?

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 का थीम “घर पर योग और घर-घर योग” रखा गया है।

प्रसिद्ध योगी पतंजलि ने योग की कितनी अवस्थाओं का वर्णन किया है ?

प्रसिद्ध योगी पतंजलि ने योग की 8 (आठ) अवस्थाओं का वर्णन किया है, जिसे अष्टांग योग कहते हैं। इसमें यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान और समाधि शामिल है।

अष्टांग योग के फायदे

  • योग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • नर्वस सिस्टम में सुधर होता है।
  • शरीर की मांसपेशियां मजबूत और लचीली होती है।
  • ब्लडप्रेशर और मोटापा जैसी समस्याएं हमेशा के लिए दूर हो जाती है।

योग शब्द की उत्पत्ति किस भाषा से हुई है

योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत भाषा के ‘यूज’ शब्द से हुई है, जिसका मतलब आत्मा का परमात्मा से मिलन होता है।

भारत में अंतर्राष्ट्रीय योग का उत्सव किस मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जाता है?

भारत में अंतर्राष्ट्रीय योग का उत्सव आयुष मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जाता है।

ये भी पढ़ें:

Last Words

आजके इस ब्लॉग में आपने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से जुडी हर उस जानकारी को जाना जो आपको जानना जरुरी है, इसके साथ ही आपने उन प्रश्नों के उत्तर को भी जाना, जो अक्सर लोगों द्वारा पूछे जाते हैं। दोस्तों, वैसे तो हमने इस article में सभी तरह के सवालों के जवाब दे दिए हैं लेकिन अगर आपके मन में अब भी कोई ऐसा सवाल है जिसके बारे में हमने इस article में नहीं बताया है तो आप हमें निचे comment box में पूछ सकते हैं, हम आपके सवाल को भी इस article में जोड़ लेंगे ताकि सभी को उसका जवाब मिल सके।

अगर आपको इस blog को पढ़ने से कुछ नया जानने को मिला हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ whatsapp, facebook जैसे social media पर share जरूर करें ताकि हम आपके लिए ऐसी ही रोचक जानकारियां लाते रहे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *