जल संसाधन के क्या उपयोग है ?

नमस्कार आज हम बात करने वाले है, जल संसाधन के बारे में आपको हम इस ब्लॉग में जल संसाधन के क्या उपयोग है के बारे में जानकारी देने वाले है। साथ ही आपको हम इस ब्लॉग में जल संसाधन के बारे में सारी जरूरी जानकारी जैसे – जल संसाधन क्या है, जल संसाधन के प्रकार के बारे में जानने के साथ ही, जल संसाधन के स्त्रोत के बारे में जानकारी देने वाले है, यदि आप जल संसाधन के क्या उपयोग है के बारे में जानकारी जानना चाहते है, तो आप हमारे साथ में बने रहिये।

जल संसाधन के क्या उपयोग है
जल संसाधन के क्या उपयोग है?

जल संसाधन के क्या उपयोग है, इसके बारे में आज भी बहुत सारे व्यक्ति हमारे भारत में ऐसे है, जिनको जल संसाधन के क्या उपयोग के बारे में जानकारी नहीं है, यदि आप चाहते है, की आपको जल संसाधन के क्या उपयोग है के बारे में जानकारी प्राप्त हो, तो आप हमारे ब्लॉग को अंत तक जरूरी पढ़े। हमने आज के इस ब्लॉग में जल संसाधन के क्या उपयोग है के साथ – साथ और भी बहुत सारी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से बताई है, तो चलिए अब हम इस ब्लॉग को शुरू करते है।

जल संसाधन के बारे में

जल संसाधन के अंतर्गत जल के उन स्त्रोतों को शामिल किया जाता है, जो मनुष्य जीवन में उपयोगी होते है, मनुष्य बिना जल के पृत्वी पर नहीं रह सकता है जल एक अक्षय प्राकृतिक संसाधन होता है, जल की आवश्यकता मनुष्यो को तो होती है, साथ ही पृत्वी पर ऐसा कोई सा भी प्राणी नहीं है, जिसको जल की जरूरत ना हो, इसलिए तो कहा गया है, की ”जल ही जीवन है” जल के बिना मनुष्य, अन्य जिव- जंतु पेड – पौधे आदि सभी प्राणी जल के बिना नहीं रह सकते है। अब आप सोच रहे होंगे की, जल संसाधन के क्या उपयोग है, तो इसके बारे में हमने निचे बताया हुआ है।

जल संसाधन के क्या उपयोग है

जल संसाधन का उपयोग पिने के लिए, कृषि सिचाई के लिए, पेड – पौधे के लिए अन्य जिव – जंतु के लिए बिज़नेस करने के लिए जैसे मछली पालन आदि तरीके से किया जाता है। जल एक प्राकृतिक संसाधन है, जिसको यदि हम एक बार उपयोग कर ले तो दोबारा से उस जल का शोधन कर सकते है। जल के बिना धरती अधूरी है। जल को यदि हम पृत्वी पर देखे तो आपको हम बता दे की पृत्वी पर 97.5% भाग जल खारा जल होता है, और 2.5% जल मीठा जल होता है।

ऐसा बताया जाता है, की मीठे जल का प्रयोग ज्यादातर किया जाता है, जबकि खारे जल का प्रयोग कम किया जाता है, जल संसाधन के क्या उपयोग है में हम आपको बता दे की जल का सबसे ज्यादा उपयोग पृत्वी पर खेती के लिए किया जाता है। जी है सही पढ़ा आपने, जल का सिचाई हेतु 70% उपयोग किया जाता है। वही अगर हम जल को घरेलु उपयोग के लिए देखे तो आपको हम बता दे की जल घरेलु उपयोग के लिए 7% उपयोग में लाया जाता है। जल का बाकि का बचा हुआ 23% जल उद्द्योगो के लिए उपयोग में लिया जाता है।

जल संसाधन के प्रकार

हमने आपको ऊपर जल संसाधन के क्या उपयोग है, इसके बारे में जानकारी बताई है, चलिए अब हम आपको जल संसाधन के प्रकार के बारे में जानकारी बताते है। जल एक प्राकृतिक संसाधन होता है। जल के बिना कोई भी व्यक्ति जीवित नहीं रह सकता है। जल संसाधन के प्रकार कुछ इस प्रकार से है :-

  • सतही जल
  • भूमिगत जल

सतही जल

पृथ्वी की सतह पर पाए जाने वाले जल को सतही जल कहा जाता है। सतही जल को धरातलीय जल भी कहा जाता है, जो पृत्वी की सतह पर तालाबों, झीलों, नदियों आदि में पाया जाता है। यह जल मनुष्य के उपयोग में लाया जाने वाला जल होता है। तालाबों के कारण मनुष्य पिने के पानी का भण्डारण कर सकता है। यदि हम जल के भण्डारण करने के मामले में भारत देश की तुलना की बात करे तो ब्राज़ील देश दुनिया का सबसे बड़ा देश जल भण्डारण के लिए माना जा है।

भूमिगत जल

धरती की सतह के निचे चट्टानों के बीचो- बीच में रन्ध्राकाश के जल को भूमिगत जल कहा जाता है। भूमिगत जल को जीवाश्म जल भी कहते है। भारत के तीन प्रदेश ऐसे है, जहाँ पर भूमिगत जल की उपलब्धि बहुत ज्यादा है, इन प्रदेशो के नाम प्रायद्वीपीय पठार, तटीय मैदान और उत्तरी मैदान है, जहाँ पर भूमिगत जल की उपलब्धि बहुत ही ज्यादा है। भूमिगत जल के अंतरगत मृदा जल को भी शामिल किया जाता है। भूमिगत जल मीठे पानी के रूप में एक प्रकार का प्राकृतिक संसाधन भी होता है।

जल संरक्षण के उपाय

जल सरक्षण के बारे में प्रत्येक नागरिक को जागरूक होना होगा। यदि जल के संरक्षण पर ध्यान नहीं दिया गया तो हमारे भारत देश में बहुत ही बड़ी जल की समस्या हो सकती है। हमने ऊपर जैसे आपको जल संसाधन के क्या उपयोग है, इसके बारे में जानकारी बता दी है, अब हम जल संरक्षण के उपाय के बारे में भी जान लेते है। हमारे भारत में ऐसे बहुत सारे लोग है, जो जल संरक्षण के उपाय के बारे में कुछ ना कुछ योजना बनाते रहते है, जल की रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है, हमने निचे जल संरक्षण के उपाय के बारे में जानकारी बताई है :-

  • वर्षा के जल का संरक्षण करना होगा और उस जल का उपयोग हमें लेना होगा।
  • नदियों को सुरक्षित रखना होगा।
  • जल संरक्षण हेतु सरकार को भी कानून बनाने चाहिए।
  • अपने घरो के नलो को ध्यान में रखे उन्हें खुला न छोड़े।
  • ग्रामीण और शहर में तालाबों को खुदा जाये जिससे जल संरक्षण किया जा सके।
  • जल के संरक्षण के लिए महाविद्यालयों में भी जानकारी Student को देना चाहिए।
  • देश के सभी नागरिक को जल के संरक्षण के लिए जिम्मेदार होना चाहिए।

यह भी पढ़े :-

Conclusion

हमने आपको आज के इस ब्लॉग में जल संसाधन के क्या उपयोग है। इसके बारे में जानकारी बताई है, साथ ही इस ब्लॉग में हमने जल संसाधन के प्रकार, जल संसाधन के बारे में जल के संरक्षण के बारे में जानकारी आपको इस ब्लॉग के माध्यम से बताई है। यदि दोस्तों आपने हमारे ब्लॉग को अच्छे से पढ़ा होगा, तो आपको हमारे ब्लॉग में जल संसाधन के क्या उपयोग है, के इस ब्लॉग में सारी जानकारी पता चल गयी होगी।

आशा करते है, की आपको हमारा यह ब्लॉग जल संसाधन के क्या उपयोग है। पढ़कर अच्छा लगा होगा, यदि आपको हमारा यह ब्लॉग अच्छा लगा हो, तो आप हमें comment करे। साथ ही अपने दोस्तों को हमारा यह ब्लॉग Whatsaap, Facebook पर Share करे। जिससे आपके मित्रो को भी जल संसाधन के क्या उपयोग है, इसके बारे में जानकारी मिल सके।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *