PhD Full Form | PhD Salary, Fees, PhD के बारे में पूरी जानकारी

दोस्तों, आप आप जानते हैं की PhD full form क्या होता है और क्या आप जानते हैं की PhD क्या है और इसे कोन कर सकते हैं? अगर हाँ, तो बहुत ही अच्छी बात है लेकिन अगर आपको PhD के बारे में नहीं पता है तो हम आपको बता दें की स्टूडेंट्स को PhD के बारे में जानना चाहिए ताकि उन्हें भी अपने करियर में सही मार्गदर्शन मिल सके और वे ये जान सके की उन्हें यह करना चाहिए या नहीं ।

PhD full form
PhD full form

आपने देखा होगा की बहुत सारे लोग डॉक्टर नहीं होते हैं फिर भी वो लोग अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाते हैं, तो क्या आपने सोचा है की ये लोग तो असल में डॉक्टर नहीं होते हैं फिर भी ये अपने नाम के आगे डॉक्टर क्यों लगाते हैं और क्या कोई भी अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकता है? तो हम आपको बता दें की कोई भी व्यक्ति अपने नाम के आगे डॉक्टर नहीं लगा सकते हैं बल्कि अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाने के लिए उन्हें PhD की पढ़ाई करनी होती है, तो आजके इस blog में हम आपको यही बताने वाले हैं की ये PhD क्या होता है और इसे कौन कर सकते हैं ।

आजके इस ब्लॉग में हम आपको PhD full form, PhD कौन कर सकते हैं, PhD करने के लिए क्या योग्यता होना चाहिए और PhD करने से क्या क्या फायदे हैं, इन सभी चीज़ों के बारे में बताने वाले हैं ।

PhD Full Form

PhD full form Doctor of Philosophy होता है यह एक कोर्स है जिसकी अवधि 3 से 4 साल की होती है ।

PhD क्या है

आपको बता दें की PhD एक तरह का कोर्स होता है जो 3 या 4 साल में कम्पलीट किया जाता है इस कोर्स को वही students करते हैं जिन्हे आगे अपने करियर में research में या teaching में अपना करियर बनाना होता है ।

PhD करने के लिए योग्यता

PhD full form जानने के बाद अब आपका PhD करने के लिए क्या योग्यता होना चाहिए, ये भी जानना जरुरी है, तो चलिए अब हम PhD करने के लिए जो योग्यताएं चाहिए उनके बारे में जानते हैं ।

अगर आप PhD करना चाहते हैं तो इसके लिए आपका post graduation कम्पलीट होना चाहिए। आपको बता दें की PhD पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी होने के बाद ही किया जा सकता है। और ये बात तो हम जानते ही हैं की पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए पहले ग्रेजुएशन करने की जरुरत होती है तो आपके ये दोनों कम्पलीट होने चाहिए तभी आप PhD की पढ़ाई kar sakte हैं ।

दोस्तों, PhD करने के लिए आपके ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में 50% से अधिक मार्क्स होने चाहिए।

पोस्ट ग्रेजुएशन उसी subject में करना चाहिए जिस subject में आपने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई की हो क्योंकि इससे आपको एक ही विषय को बहुत समय से पढ़ने से उस विषय के बारे में पूरी जाकारी हो जाएगी और आप expert हो जायेंगे जिससे आपके PhD की पढ़ाई में दिक्कत नहीं आएगी और आप अच्छे मार्क्स के साथ अपनी PhD की पढ़ाई भी पूरी कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें: PCS exam के बारे में जानकारी

PhD करने के लिए वैसे तो आपको कॉलेज में admission लेने के लिए पहले आपको एक exam देना होता है उसी को देखकर आपका कॉलेज में admission होता है लेकिन बहुत सारे कॉलेज ऐसे भी है जिनमें बिना किसी एग्जाम के भी एडमिशन दे दिया जाता है, आप अपनी योग्यता के अनुसार कॉलेज का चयन कर सकते हैं।

PhD की Fees कितनी होती है

दोस्तों, हर कॉलेज की fees अलग अलग होती है और PhD कोर्स की fees आपके course के duration and subject पर भी depend करता है, अलग अलग कॉलेज की अलग अलग fees होती है लेकिन हम आपके अनुमान के लिए आपको बता दें की PhD की fees 15,000 सालाना से लेकर 2 लाख रूपये सालाना तक हो सकती है।

बहुत सारे कॉलेज से कुछ students PhD के कोर्स को बिलकुल फ्री में भी कर लेते हैं क्योंकि उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार कॉलेज के द्वारा scholarship दी जाती है जिससे वो अपनी fees भर देते हैं ।

PhD करने के फायदे

PhD करने के बहुत सारे फायदे हैं, अगर आप PhD कर लेते हैं तो आप अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकते हैं साथ ही और भी कुछ फायदे हैं जो निचे हमने दिए हैं:

  • PhD करने के बाद आप किसी भी कॉलेज प्रोफेसर के रूप में स्टूडेंट्स को अपना सब्जेक्ट पढ़ा सकते हैं
  • PhD करने के बाद आप अपने सब्जेक्ट की रिसर्च फील्ड में जा सकते हैं
  • PhD करने के बाद आपको किस भी जॉब में ज्यादा salary दी जाती है क्योंकि आपका उस पर्टिकुलर सब्जेक्ट में नॉलेज बहुत बढ़ जाता है.
  • PhD करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकते है

Conclusion

PhD एक तरह का कोर्स होता है जिसे पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कम्पलीट होने के बाद किया जा सकता है। इस कोर्स को करने की अवधि 3 से लेकर 5 साल तक की होती है। PhD करने के लिए 15000 से लेकर 2 लाख तक की फीस हर साल देना पड़ती है लेकिन कुछ कॉलेजेस में स्कालरशिप मिल जाती है तो यह फ्री हो जाता है। PhD करने के बाद हम अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकते हैं और साथ ही हम किसी जॉब के लिए अप्लाई करते हैं तो हमें ज्यादा सैलरी मिलने के चान्सेस होते हैं ।

दोस्तों, PhD Full Form और PhD के बारे में पूरी जानकारी पर हमारा लिखा गया ये ब्लॉग पढ़कर आपको कैसा लगा निचे कमेंट में जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ इस ब्लॉग PhD full form को शेयर जरूर करें ताकि वो भी PhD full form और उससे सम्बंधित अन्य जानकारियां ले सकें। PhD full form और PhD से रिलेटेड कोई भी जानकारी और भी जानने के लिए हमसे निचे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *