केरल की राजधानी क्या है? | keral ki rajdhani kya hai

नमस्कार आज हम बात करने वाले है, केरल के बारे में आपको हम केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के बारे में जानकारी देने वाले है। साथ ही केरल के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जैसे – केरल में कितने जिले है, केरल का क्षेत्रफल कितना है, केरल कहाँ स्थित है, और भी बहुत सारी जानकारी केरल के बारे में आपको इस ब्लॉग के माध्यम से दी जाएगी। केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के इस जनरल knowlage के इस प्रश्न को बहुत बार परीक्षाओ में पूछा जाता है।

keral ki rajdhani
keral ki rajdhani

केरल के बारे में बहुत सारे लोगो को पता नहीं होता है, केरल से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बहुत ही कम लोगो को पता होता है, इसलिए आज हम आपके सामने लेकर आये है, एक ऐसा ब्लॉग जिसमे आपको केरल के बारे में हर जरूरी जानकारी के बारे में पता चलेगा। यदि दोस्तों आप केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के इस ब्लॉग में सारी केरल के बारे में जानकारी जानना चाहते है, तो आप हमारे इस ब्लॉग केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) को पूरा पढ़े।

केरल के बारे में

केरल भारत का एक राज्य है, जो पहाड़ी इलाको में बसा हुआ है। केरल को देवी देवताओ का प्रमुख स्थल माना जाता है, हमारे भारत में सबसे अधिक साक्षरता वाला राज्य केरल है। केरल की भाषा मलयालम है, केरल के लोग मलयालम भाषा बोलते है, यहाँ के लोगो को खेल खेलना अच्छा लगता है, केरल का प्रशिद्ध खेल कॅरियलपट्टु है। यहाँ के लोग इस कॅरियलपट्टु खेलने के साथ ही कुछ और भी खेल खेलते है, जैसे – तैराकी, खो – खो की तरह बैठक वाला खेल, बैडमिंटन, आदि। केरल के लोगो का भोजन चावल है, लेकिन आपको हम बता दे की केरल के लोग चावल खाने के साथ – साथ सब्जी पूड़ी भी कहते है।

यहाँ के लोग एक अजीब प्रकार की सब्जी बनाते है। इन लोगो की सब्जी अंडा, मछली, मलयाली आदि चीज़ो की सब्जी बनती है। केरल के लोग अपने पकवान को पकने के लिए भाप, या तेल का इस्तेमाल करते है। केरल के यदि हम त्योहारों की बात करे तो ओणम यहाँ का सबसे प्राचीन त्यौहार है। इसके साथ ही पोंगल, विष्णुमहोत्सव, आदि त्यौहार यहाँ मनाये जाते है। केरल का सबसे पुराण नाम चेरलम है, पहले के ज़माने में केरल को चेरलम कहा जाता था।

केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai)

केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम है। तिरुवनंतपुरम को हिंदी में तिरुवनंतपुरम या तिरुअनंतपुरम लिखा जाता है। यदि हम इसको इतिहासकाल की दृस्टि से देखे तो आपको हम बता दे की इसको पहले के ज़माने में त्रिवेंद्रम के नाम से जाना जाता था। तिरुवनंतपुरम में एक मंदिर बहुत ज्यादा प्रशिद्ध है, जिसका नाम वैष्णम मंदिर है। तिरूवंनतपुरम केरल की राजधानी होने के साथ – साथ यह एक शहर भी है, जो लगभग 5-7 पहाड़ो के बीच बसा हुआ है। इस शहर को हरा शहर भी कहा जाता है। यहाँ पर परमनाभस्वामी मंदिर बहुत ज्यादा लोकप्रिय है। तुरूवनन्तपुरम को 18 वीं सदी में इसको राजधानी घोसित कर दिया गया था। तिरुवनंतपुरम के बारे में जरूरी जानकारी :-

  • तिरुवनंतपुरम का नाम 1991 में तिरुवनंतपुरम रखा गया था।
  • तिरुवनंतपुरम के लोग शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार का भोजन करते है।
  • तिरुवनंतपुरम से एक नदी गुजरती हुई निकलती है जिसका नाम, कर्मन ना, है।
  • भारत का दूसरा सबसे पुराना चिड़ियाघर तिरुवनंतपुरम में स्थित है।
  • अत्तुकल अंगाला और विशु यहाँ के प्रमुख फेस्टिवल है।

केरल से जुड़े तथ्य

दोस्तों जैसा की हमने आपको ऊपर केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के बारे में जानकारी बताई है, अब हम आपको केरल से जुड़े हुए कुछ ऐसे तथ्य के बारे में जानकारी देने जा रहे है, जिनका केरल से सम्बन्ध है। हमने निचे कुछ points के माध्यम से केरल के प्रमुख तथ्यों के बारे में बताया हुआ है :-

  • केरल का क्षेत्रफल 38,863 वर्ग किलोमीटर है।
  • केरल के जलमार्ग की लम्बाई 1686 किलोमीटर है।
  • केरल में जिले की संख्या 14 है।
  • केरल का सबसे छोटा जिला एर्नाकुलम है।
  • केरल की जनसँख्या 2016 के अनुसार 3.46 करोड़ है।
  • 2016 के अनुसार पिनाराई विजयन केरल के मुख्यमंत्री है।
  • आरिफ मोहम्मद खान केरल के राज्यपाल है।
  • केरल की सबसे बड़ी झील वेम्बनाड झील है।
  • केरल की स्थापना 1 नवम्बर 1956 में की गयी थी।
  • केरल का सबसे बड़ा जिला पलक्कड़ है।
  • केरल का लोकप्रिय नृत्य कथकली है।
  • केरल का प्रशिद्ध खेल ओणम जो लगभग 450 साल पुराना है।
  • केरल में मुन्नार हनीमून गंतव्य एक पर्यटन स्थल है जो सबसे ज्यादा लोकप्रिय है।

यह भी पढ़े :-

Conclusion

हमने आपको आज के इस ब्लॉग केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) में बताया की केरल कहाँ स्थित है। भारत से केरल का क्या सम्बन्ध है। केरल के बारे में सारी जरूरी जानकारी जैसे – केरल की जनसँख्या, क्षेत्रफल, जिला, स्थापना, प्रशिद्ध खेल, आदि जानकारी आपको हमने इस ब्लॉग केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) में आपको बताई है। आपको हमने केरल की राजधानी से सम्बंधित जानकारी भी इस ब्लॉग के माधयम से बताई है।

दोस्तों आशा करता हूँ की हमारे द्वारा लिखे गए इस ब्लॉग केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के माध्यम से आपको केरल के बारे में सारी जरूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। यदि आपको हमारा यह ब्लॉग केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) अच्छा लगा हो, तो आप हमें comment करे और यदि आपके किसी friend को केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के बारे में नहीं पता है, तो आप उनको हमारी यह जानकारी शेयर करे। जिससे उनको भी केरल की राजधानी क्या है (keral ki rajdhani kya hai) के बारे में पता चल सके।

Related Posts

One thought on “केरल की राजधानी क्या है? | keral ki rajdhani kya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *