इब्न बत्तूता किस देश का यात्री था | ibn battuta kis desh ka yatri tha

इब्न बत्तूता किस देश का यात्री था (ibn battuta kis desh ka yatri tha) इब्न बत्तूता का नाम तो आपने इतिहास में जरूर सुना हुई होगा क्योंकि इब्न बत्तूता किस देश से भारत आया था इस प्रश्न को अक्सर परीक्षाओं में पूछा जाता है, इसलिए आपको इब्न बत्तूता के बारे में पता होना चाहिए ताकि आप आने वाले एक्साम्स में इस प्रश्न का जवाब अच्छे से दे सकें।

ibn battuta kis desh ka yatri tha

चलिए सबसे पहले हम इब्न बत्तूता के बारे में थोड़ा जान लेते हैं:

इब्न बत्तूता के बारे में

इब्न बत्तूता का जन्म 24 फ़रवरी 1304 को तेंज़ियर, अल्मोराविद राजवंश मोरक्को में हुआ था। इब्न बत्तूता अरब यात्री था जो विद्वान् और लेखक होने के साथ साथ एक यात्री भी था। इब्न बत्तूता का पूरा नाम मुहम्मद बिन अब्दुल्ला इब्न बत्तूता था। मुसलमान यात्रियों में इब्न बत्तूता का नाम सबसे ऊपर आता था। इब्न बत्तूता शुरू से ही धर्मानुरागी था, उसे प्रसिद्द मुसलमान धार्मिक स्थल और मक्के की यात्रा करने की इच्छा शुरू से ही रही थी और यही कारण था की वो केवल 21 वर्ष की उम्र से ही यात्रा करने के लिए निकल पड़ा था।

इब्न बत्तूता किस देश का यात्री था (ibn battuta kis desh ka yatri tha)

इब्न बत्तूता मोरक्को ( उत्तर अफ्रीका ) देश का यात्री था। इब्न बत्तूता की इच्छा बचपन से ही मुसलमानो के धार्मिक स्थलों को देखने की रही और यही कारण बना की वो मुसलामानों में से सबसे महान यात्री था। इब्न बत्तूता तुगलक वंश के शासक मुहम्मद बिन तुगलक ( 1325-1351 ईस्वी) के शासनकाल में भारत आया था। इब्न बत्तूता ने अपनी यात्रा का विवरण अरबी भाषा में किया था, जो आगे चलकर “रेहला” नाम से प्रसिद्द हुआ।

ये भी पढ़ें: अकबर का वित्त मंत्री कौन था

ये भी पढ़ें: रामानंद के शिष्य कौन थे

ये भी पढ़ें: कवी कालिदास किसके राजकवि थे

तो दोस्तों, इब्न बत्तूता किस देश का यात्री था (ibn battuta kis desh ka yatri tha) इस विषय के बारे में आजके इस ब्लॉग में आपने जाना, साथ ही आपने इब्न बत्तूता के जन्म समय और स्थान के बारे में भी जाना, आशा करता हूँ की आपको हमारा आज का ये ब्लॉग इब्न बत्तूता किस देश का यात्री था (ibn battuta kis desh ka yatri tha) पसंद आया होगा और इससे आपको कुछ नया जानने को जरूर मिला होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *