अर्थशास्त्र के लेखक कौन है? | arthshastra ke lekhak kaun hai

दोस्तों आज के इस ब्लॉग में हम बात करने वाले है, अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) इसके बारे में हम आपको बताने वाले है। दोस्तों आपको हम अर्थशास्त्र के लेखक के बारे में बताने के साथ – साथ अर्थशास्त्र क्या है। अर्थशास्त्र के महत्त्व के बारे में जानकारी देने के साथ – साथ अर्थशास्त्र से जुडी हुई महत्वपूर्ण जानकारी इस ब्लॉग में देने वाले है।

arthshastra ke lekhak kaun hai
arthshastra ke lekhak kaun hai

दोस्तों बहुत बार परीक्षाओ में पूछा जाने वाला यह प्रश्न अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) के बारे में बहुत से लोगो को सही से जानकारी न होने के कारण स्टूडेंट अपनी परीक्षाओ में सही जानकारी नहीं लिख पाते है। इसलिए दोस्तों यदि आप चाहते है, आपको इस ब्लॉग में दी जाने वाली पूरी – पूरी जानकारी प्राप्त हो, तो आप हमारे साथ में बने रहिये।

अर्थशास्त्र के बारे में

दोस्तों अर्थशास्त्र सैद्धांतिक और व्यावहारिक दोनों प्रकार से है। दोस्तों हमें अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) के बारे में जानने से पहले अर्थशास्त्र के बारे में जानना चाहिए। हमारे जीवन में अर्थशास्त्र का बहुत महत्व है। अर्थशास्त्र के सैद्धांतिक महत्त्व में ज्ञान में वृद्धि करना, साथ ही व्यक्ति की सोचने समझने की क्षमताओं को बढ़ाना अर्थशास्त्र का विशेष महत्व रहा है। वही अगर हम इसके व्यावहारिक महत्व को देखे तो श्रमिकों को लाभ देने के साथ ही व्यापारियों को लाभ प्राप्त करना अर्थशास्त्र का विशेष महत्व रहा है।

अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) के बारे में जानने वाले स्टूडेंट को यह पता होना चाहिए की अर्थशास्त्र एक बहुत ही प्राचीन विद्द्या है। अर्थशास्त्र के चार उपवेद है। मनुष्य की आर्थिक क्रियाओ का अर्थशास्त्र में विवेचन किया गया है। अर्थशास्त्र की आर्थिक क्रियाओ में उपभोग को बहुत ही सरल शब्दों में बताया गया है। वही अगर हम विनिमय की बात करे तो अर्थशास्त्र में विनिमय शब्द का अर्थ किसी वस्तु, या किसी उत्पादन के साधन का क्रय, विक्रय करना है।

दोस्तों यदि हम अर्थशास्त्र के भागो की बात करे तो 1933 में अर्थशास्त्र को दो भागो में बता गया था। अर्थशास्त्र को (Regnor Frisch) ने दो भागो में बाटा था।

व्यस्टि अर्थशास्त्र

व्यस्ति अर्थशास्त्र कुछ इकाइयों का अध्ययन करता है, जैसे व्यक्ति, परिवार, या फर्म। व्यस्ति अर्थशास्त्र को अर्थशास्त्र की एक प्रमुख शाखा माना जाता है। अर्थव्यवश्ता के समस्त आर्थिक परिवर्तो पर विचार करने का काम समष्टि अर्थशास्त्र का होता है। प्रोफेशर चम्बरलीन के अनुसार वस्ति अर्थशास्ता व्यक्तिगत व्याख्या पर आधारित है।

वही हम प्रोफ़ेसर बोल्डिंग की बात की जाये तो उनके अनुसार व्यस्टि अर्थशास्त्र विशिस्ट परिवारों, फर्मो, और विशिस्ट प्रकार की मजदूरियो का अध्ययन है। व्यष्टि अर्थशास्त्र तीन प्रकार का होता है :-

  • व्यष्टि स्थैतिक
  • सूक्ष्म प्रोद्द्योगिकी
  • तुलनात्मक सूक्ष्म प्रोद्द्योगिकी

समष्टि अर्थशास्त्र

समष्टि अर्थशास्त्र सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था का अध्धययन करता है। साथ ही अर्थव्यवस्था में निहित कुल योगो का अध्ययन करना ही समष्टि अर्थशास्त्र है। वही प्रोफ़ेसर चेम्बरलीन के अनुसार समष्टि अर्थशास्त्र कुल सम्बन्धो की व्याख्या करता है। समष्टि अर्थशास्त्र में सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था की इकाइयों का अध्ययन किया जाता है।

अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai)

अर्थशास्त्र के लेखक चाणक्य (कौटिल्य) है। दोस्तों बहुत बार कुछ स्टूडेंट को यह पता नहीं होता है, की चाणक्य ही कौटिल्य है, इसलिए दोस्तों आपको यद् रखना है, की चाणक्य को ही कौटिल्य कहा जाता है। अर्थशास्त्र चन्द्रगुप्त मौर्य के द्वारा लिखा गया था। आज से अर्थशास्त्र लगभग 2300 वर्ष पुराना है। चाणक्य चन्द्रगुप्त मौर्य (321-298 ई,पु,) के महामंत्री थे। चाणक्य बहुत ही अच्छी व्यक्ति थे। चाणक्य का उल्लेख विष्णुपुराण, बौद्ध ग्रन्थ, जैन पुराण, आदि में मिलता है।

चाणक्य की पत्नी का नाम यशोमति था, चाणक्य के पिता का नाम चणक (कौटिल्य) था। आचार्य चाणक्य का जीवन बहुत ही रहष्यमयी है। चाणक्य को विष्णुगुप्त, वात्सायन, के नाम से भी जाना जाता है। चाणक्य का जन्म (371 ई, पु,) में हुआ था। चाणक्य की मौत (283 ई, पु,) में हुई थी। दोस्तों चाणक्य की मौत रहस्य है।

यह भी पढ़े :-

Conclusion

दोस्तों aapko हमने आज के इस ब्लॉग में बताया की अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) साथ ही दोस्तों हमने आपको चाणक्य के जन्म से लेकर मृत्यु तक की जरूरी जानकारी के बारे में जानकारी देते हुए, अर्थशास्त्र के बारे में समझते हुए, अर्थशास्त्र के दो प्रमुख भागो के बारे में बताया है।

उम्मीद है दोस्तों आपको हमारा यह ब्लॉग अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) अच्छी तरह से समझ में आया होगा, यदि दोस्तों आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आया हो, तो आप हमें कमेंट करे साथ ही अपने दोस्तों को हमारा यह ब्लॉग whatsapp facebook पर शेयर करे जिससे उनको अर्थशास्त्र के लेखक कौन है (arthshastra ke lekhak kaun hai) के इस ब्लॉग में दी जाने वाली सारी जानकारी के बारे में पता चल सके।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *